महाबली जोगराज गुर्जर जिसने तैमूर की आधी सेना काट दी ! पढ़े भयंकर युद्ध की कहानी !

महाबली जोगराज गुर्जर जिसने तैमूर की आधी सेना काट दी ! पढ़े भयंकर युद्ध की कहानी !

Mahabali Jograj singh Gurjar 

महाबली जोगराज सिंह गुर्जर , गुर्जर इतिहास , तैमुर युद्ध , रामप्यारी गुर्जरी , तैमुर ,mahabali jograj singh gurjar, rampyaari gurjari , taimur , gurjar history

महाबली जोगराज सिंह गुर्जर

भारतीय इतिहास वैसे तो साक्षी रहा है एक से भयंकर एक युद्ध का , लेकिन कुछ युद्ध ऐसे भी हुए है जिसमे  भारतीय योद्धाओ ने अभूतपूर्ण वीरता का परिचय दिया और ये जानते हुए भी कि दुश्मन की सेना हमारी सेना से कई गुना अधिक है , प्राणों की बाजी लगते हुए मात्रभूमि की रक्षा करना अपना धर्म समझा ! महाबली जोगराज सिंह गुर्जर की कहानी भी अपने आप में एक इतिहास समेटे हुए है |

ये कहानी है महाबली जोगराज गुर्जर और उन हजारो योद्धाओ की जिन्होंने उस निर्दयी और अत्याचारी विदेशी हमलावर तैमूर को हरिद्वार  में न घुसने देने की कसम खायी | और जिसके लिए हजारो योध्धाओ के साथ साथ बहादूर महिलाओं ने भी युद्ध की बागडौर हाथ में संभालकर तैमूर का मुकाबला किया |

1398 में जब तैमूर लंग ने भारत पर आक्रमण किया तो उसके साथ करीब ढाई लाख  घुड़सवारो की सेना थी जिसके बल पर वो क्रूर हत्यारा निर्दोष लोगो का खून बहाते हुए तेजी से आगे बढ़ रहा था | पंजाब की धरती को लहुलुहान करने के बाद तैमुर ने दिल्ली का रूख किया और दिल्ली के शासक तुगलक को हराया | दिल्ली में लाखो निर्दोषो को मौत के घाट उतारकर उसने एक लाख लोगो को बंदी बनाया और उनका कत्लेआम किया | दिल्ली के पास ही स्थित लोनी उसका अगला निशाना थी | लोनी और उसके आस पास का क्षेत्र गुर्जर बहुल क्षेत्र था यहाँ गुर्जर राज कर रहे थे और विदेशी आक्रान्ताओं को चोट पहुचाने में सबसे ज्यादा जाने जाते थे  इसलिए तैमुर ने अगला निशाना लोनी क्षेत्र को बनाया , बहादुर गुर्जरों ने मुकाबला किया लेकिन हजारो वीरो को वीरगति का सामना करना पड़ा और तैमूर ने बंदी बनाकर वहां के एक लाख लोगो को मौत के घात उतार दिया |

उसके बाद वो हत्यारा तैमूर लंग बागपत ,मेरठ और सहारनपुर को लूटते हुए धार्मिक नगरी माने जाने वाली हरिद्वार को लूट कर और कत्लेआम आम कर वहां के मंदिरों और संपत्ति को नष्ट करने के इरादे से आगे बढ़ना चाहता था !

next पर क्लिक कर पढ़े कैसे पंचायत ने महाबली जोगराज गुर्जर को तैमुर से युद्ध के लिए चुना !

Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse

Comments

comments

Gurjar Today is the ultimate resource for the Gurjars ,providing Gurjars around the world a platform to interact with the community and connect with our roots.

6 Comments

  1. मुझे गर्व है की मैं गुर्जर समाज में पैदा हुआ हूँ
    गुर्जर टुडे मैं हमेशा से पढ़ रहा हूँ
    आज महाबली जोगराज गुर्जर के बारे में पढ़ कर गर्व का अनुभव कर रहा हूँ
    देश और समाज कल्याण के लिये
    देव गुर्जर समर्पित है
    Dev gurjar RPF

  2. Dr Sonveer singh - January 10, 2017 reply

    Very very good

  3. Balistar gurjar mp. - October 17, 2017 reply

    Me bahut hi garv mahsoos kar raha hoo ki hamare samaj me aise aise veer paida huye jinhone apni bahaduri ke lohe manva diye the Lekin gurjar pahle bhi veer the AB bhi veer hai aur veer hi rahenge “GURJAR EKTA JINDABAD” DESH ke sabhi GURJAR BHAiYON KO RAM RAM

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *