GICCI -“गुर्जर इंटरनेशनल चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज” – गुर्जर परिवार के द्वारा एक अनूठी पहल।

GICCI -“गुर्जर इंटरनेशनल चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज” – गुर्जर परिवार के द्वारा एक अनूठी पहल।


गुर्जर परिवार ने GICCI की शुरूआत करके समाज के युवाओं को आगे बढाने के लिए एक और अनूठी पहल की है। GICCI मौजूदा और नवोदित उद्यमियों के लिए उन्हें अपने उद्यमों में सफलता की संभावना बढ़ाने के लिए नेटवर्किंग, फंडिंग, नॉलेज शेयरिंग, मेंटरिंग और स्किल बिल्डिंग के लिए एक मंच प्रदान करता है। यह पॉलिसी स्तर पर सरकार और अन्य उद्योग निकायों के साथ भी जुड़ा हुआ है |

GICCI गुर्जर इंटरनेशनल चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज Gurjar entrepreneurs meet

Team Gurjar Pariwar

2016 में सफल और महत्वाकांक्षी उद्यमियों को एक साथ लाने के लिए कॉन्स्टीट्युशन क्लब ऑफ इंडिया में गुर्जर उद्यमियों की एक बैठक का आयोजन “गुर्जर परिवार” द्वारा किया गया जिसका विस्तृत वर्णन निम्न लिंक पर उपलब्ध है
Gurjar Entrepreneurs Meet 2016

2016 में कॉन्स्टीट्युशन क्लब ऑफ इंडिया में आयोजित इस बैठक में कई प्रसिद्ध गुर्जर व्यवसायी और सफल उद्यमियों ने भाग लिया। उद्यमशीलता के विभिन्न पहलुओं पर पैनल चर्चाएं हुईं, उद्यमियों के समक्ष चुनौतियों और मुख्य बिंदुओं पर चर्चा हुई। डॉ जगदीप छोक्कर (Professor IIM, Ahmedabad & Founding Member of ADR), डॉ धर्मेंद्र नागर (एमडी – पारस हेल्थकेयर), श्री नरेंद्र कुमार(ED – GAIL), मेजर राजपाल बैसोया (निदेशक, फिक्की), श्रीमति सुनीता बैंसला (Principal Income tax Commissioner), श्रीमति नंदिनी सिंह (उद्यमी), श्री आजाद भड़ाना (MD – सिटीजन कोआपरेटिव बैंक), श्री मेघराज बैंसला (MD – मेघलोक एसोसिएट्स) सहित कई प्रमुख व्यक्तित्व ने उद्यमी या उद्यमी बनने की चाह रखने वाले गुर्जरो को संबोधित किया था।
गुर्जर इंटरनेशनल चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज GICCI Gurjar entrepreneurs meet

इस दौरान यह महसूस किया गया था कि उद्यमशीलता को व्यवहारिक कैरियर विकल्प के रूप में लेने के लिए कई तरह की बाधाएं युवाओ के सामने हैं जैसे कि-
1) सरकार द्वारा प्रदान की गई नीतियों, योजनाओं और समर्थन के बारे में जागरूकता की कमी,
2) उद्यमियों के लिए महत्वपूर्ण कौशल की कमी
3) मार्गदर्शन की कमी ,
4) धन और अन्य संसाधनों की कमी और
5) समाज में कैरियर विकल्प के रूप में उद्यमशीलता की स्वीकार्यता की कमी।

गुर्जर इंटरनेशनल चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज Gurjar entrepreneurs meet
माता-पिता अपनी बेटियों और बेटों को व्यापार में नही जाने देना चाहते। अपनी बेटी के लिए एक दुल्हे की तलाश करते समय, माता-पिता, आम तौर पर, किसी एक उद्यमी के बजाय अच्छी नौकरी या अच्छे किराये की आय वाले वर को पसंद करते हैं व लड़कियों को भी व्यवसाय करने की अनुमति नहीं है।
उपरोक्त सभी कारकों को ध्यान में रखते हुए, गुर्जर परिवार ने FICCI जैसे एक संगठन का विचार साझा किया जो उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिये सक्रिय रूप से काम करता है। इस संबंध में एक टास्क फोर्स की गठन हुआ , जो व्यापारियों, उद्यमियों और विभिन्न डोमेन के विशेषज्ञों से फीडबेक  लेती थी। विस्तृत अध्ययन और सर्वेक्षण के बाद, टास्क फोर्स ने एक संगठनात्मक रूप में समाधान की सिफारिश की, जो कि “गुर्जर इंटरनेशनल चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (GICCI)” के साथ 2017 में पंजीकृत किया गया था।
गुर्जर इंटरनेशनल चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज Gurjar entrepreneurs meet

GICCI (उच्चारण – जिक्की) निम्नलिखित  दृष्टि से बनाया गया था

“गुर्जर युवाओं को  ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सशक्त बनाने के लिए उद्यमशीलता के माध्यम से अपने सपनों को पूर्ण करना, नौकरी सृजन, धन अर्जित और राष्ट्र की अर्थव्यवस्था के विकास के लिए एक सकारात्मक सामाजिक परिवर्तन का हिस्सा बनाना।”
GICCI के मिशन में शामिल हैं:
नेटवर्किंग
– नॉलिज शेयरिंग
– कौशल विकास
– मार्गदर्शन
– वित्तपोषण और निवेश

गुर्जर इंटरनेशनल चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज Gurjar entrepreneurs meet

अपने अभी तक के संक्षिप्त अस्तित्व में GICCI ने सफलताओं की इबारत लिखनी भी शुरू कर दी हैं। GICCI ने इतने कम समय मे तीन स्टार्टअप बनाने के लिए योगदान दिया है। वे हैं, श्री सतेन्द्र नागर द्वारा शुध्द स्वदेशी, श्री नरेंद्र कसाना द्वारा ब्रांड बक बक और श्री सचिन पंवार द्वारा YOGA (Your Own Green Area)। एस. के. नागर द्वारा The Popular Indian |  GICCI ने FairAir की crowd funding में भी मदद की है जो कि श्री सचिन पंवार का एक और उद्यम है।
अधिक जानकारी के लिए, कृपया www.Gicci.in पर जाए, और गुर्जर उत्थान की इस मुहिम में हमसे जुड़ें!

Comments

comments

Gurjar Today is the ultimate resource for the Gurjars ,providing Gurjars around the world a platform to interact with the community and connect with our roots.

1 Comment

  1. Manvendra gurjar - November 10, 2018 reply

    Good work sir ji

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *