24 अगस्त को ” मिहिरोत्सव ” किस तरह से मनाये

24 अगस्त को ” मिहिरोत्सव ” किस तरह से मनाये

24 अगस्त को  “मिहिरोत्सव ” किस तरह से मनाये ?

भारतीय जनजीवन में त्योहारों और उत्सवों का आदिकाल से ही काफी महत्त्व रहा है | दरअसल, ये त्योहार ही हैं जो परिवारों और समाज को जोड़ते हैं | अपने आप में अनोखे रंग समेटे ये त्योहार हमारे जीवन में उमंग और उत्साह की नई लहरों को जन्म देते हैं | त्योहार जीवन को खुशहाल व रिश्तों को मजबूत बनाने में एक अटूट कड़ी की भूमिका भी निभाते हैं | रोजमर्रा की परेशानियों को भुला कर हमें सजने संवरने और नए स्वाद चखने का भी अवसर देते हैं ये त्योहार और उत्सव |

सम्राट मिहिर भोज गुर्जर gurjar emperor samrat mihir bhoj history

बीते कल ही मैंने 24 अगस्त पर अपने महान प्रतापी पूर्वज गुर्जर सम्राट मिहिर भोज जी की 1201वी जयंती को ” मिहिरोत्सव ” के रूप में मनाने को लेकर एक पोस्ट लिखी थी … जिससे जुड़कर कुछ साथियो ने जानना चाहा हैं कि … मेन फंक्शन कहाँ होगा और उसका क्या प्रारूप सोचा गया है … इत्यादि इत्यादि ?

दोस्तों , प्यारे अजीजो … 24 अगस्त को पंचाग के हिसाब से ‘ भादो की हरितालिका तृतीया ‘ है … जिसे मुख्य रूप से हरितालिका तीज और ‘ वराह जयंती ‘ के रूप में मनाया जाता है | मैंने पूर्व लेख में लिखा भी था … गुर्जर सम्राट मिहिरभोज को ‘ आदिवराह ‘ के उपनाम से भी जाना जाता है | इसके पीछे मुख्य कारण निम्नलिखित है :

गुर्जर सम्राट मिहिर भोज महान के सिक्को पर ” वाराह भगवान ” जिन्हें कि भगवान विष्णू के अवतार के तौर पर जाना जाता है … की आकृति मिलती है । वाराह भगवान ने हिरण्याक्ष राक्षस को मारकर पृथ्वी को पाताल से निकालकर उसकी रक्षा की थी। ठीक उसी प्रकार से …. … गुर्जर सम्राट मिहिर भोज ने …. मलेच्छों को मारकर , देश से बहार खदेड़ कर अपनी मातृभूमि की रक्षा की। और इस प्रकार अपनी ‘ संस्कृति ‘ की रक्षा कर इस महाप्रतापी गुर्जर गौरव ने लगभग 50 वर्षो तक लोगो के हृदय पर राज किया था |

सम्राट मिहिर भोज mihir bhoj gurjar coin

सम्राट मिहिर भोज के शासन काल में प्रचलित सिक्का

तो ऐसे अपने महाप्रतापी पूर्वज को उनकी जयंती पर … आप अपने घरो में अवश्य ही ‘ त्यौहार / उत्सव ‘ के रूप में जगह दे | आज की प्रचलित हैप्पी बर्थडे की अवधारणाओं से अलग हमे अपने ” बुड्ढे ” को याद करना है और सम्मान देना है | ये कतेई भी जरुरी नही होता कि …. हर बर्थडे पर केक ही कटे !!! और ये भी लाज़मी नही है कि … जब कोई विशाल फंक्शन होगा तब ही उनका बर्थडे सेलिब्रेट किया जायेगा !!!

gurjar emperor king samrat mihir bhoj mihirotsav गुर्जर सम्राट मिहिर भोज मिहिरोत्सव राजा

सिम्पली , मौसम के अनुसार आप 24 अगस्त ( मिहिरोत्सव ) को परंपरागत तरीके से खीर व् पूरी बनाये और बाद में मिठाई के रूप में ‘ पूडा ‘ भी अवश्य बनाये | और गरीब परिवारों में पूडा बटवाये तथा सम्राट मिहिरभोज का स्मरण भी करवाये | अगर सम्भव हो तो … उस दिन नये वस्त्र धारण करे | आप उन्हें स्मरण करने के लिये एक छोटा सा काम और कर सकते … सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल पिक में उन्हें जगह दीजे |

कुल मिलाकर … Congratulations to all … हर्षोल्लास के साथ 24 अगस्त को ” मिहिरोत्सव  ” मनाये | हमे जीते जी … अपने पूर्वजो को ” जीवित ” रखना है … जिससे आने वाले कल कोई हमे भी जिन्दा रखे !!!

– बिट्टू कसाना जावली (गुर्जर परिवार )

दूसरी पोस्ट यहाँ पढ़े –

24 अगस्त को देश भर में मिहिरोत्सव मनायेगा गुर्जर समाज

ये भी पढ़े –

ये थे असली बाहुबली हिन्दू सम्राट मिहिर भोज, जिसके नाम से थर थर कापते थे अरबी और तुर्क !

शौर्य और बहादुरी से जुड़े “गुर्जर सम्राट मिहिर भोज” के रोचक पहलू

 

 

 

Comments

comments

Gurjar Today is the ultimate resource for the Gurjars ,providing Gurjars around the world a platform to interact with the community and connect with our roots.

1 Comment

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *